Dalchini (दालचीनी) Ke Fayde और नुकसान | Dalchini Benefits

Cinnamon को हिंदी भाषा में दालचीनी कहा जाता है। दालचीनी दक्षिण पूर्व एशिया में पाई जाती है यह एक पेड़ की छाल होती है इसका प्रयोग खाने में स्वाद बढ़ाने और अनेक प्रकार की औषधि में किया जाता है।आयुर्वेदा इसका प्रयोग काफी लंबे समय से दवा के रूप में करता आ रहा है दालचीनी में एक प्रकार का रसायन होता है जो एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल होता है।

आजकल दालचीनी की छाल कई रूपों में मिल जाती है जैसे चूर्ण, चाय, कैप्सूल, और तेल आदि। दालचीनी में कैल्शियम मैग्नीशियम की मात्रा पाई जाती है। दालचीनी को भारतीय खाने में आमतौर पर डाला जाता है क्योंकि यह जितनी खाने को स्वादिष्ट बनाती है उतना ही आपके स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है तो आइए जानते हैं दालचीनी के फायदे के बारे में।

Dalchini (दालचीनी) के फायदे

1. खांसी में फायदा

खांसी में फायदा

मौसम बदलने, या ठंड लगने पर खांसी जुकाम की समस्या हो जाती है। दालचीनी ऐसे समय में रामबाण का काम करती है। जब भी आपको सर्दी लगे दालचीनी को गर्म पानी में डालकर थोड़ा शहद मिला लें और पिए आपको सर्दी में राहत मिलेगी।

2. शुगर में फायदा

शुगर में फायदा

शुगर एक ऐसी समस्या है जिसे जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता। Diabetes (डायबिटीज) टाइप B एक ऐसी समस्या है जो खत्म नहीं होती इसे बस कंट्रोल किया जा सकता है।

एक सर्वे के अनुसार पता चला है कि दालचीनी से ब्लड शुगर को कम करके डायबिटीज को नियंत्रण किया जा सकता है। रोजाना खाने के साथ एक से दो चम्मच दालचीनी का सेवन करें आपको जरूर फायदा होगा।

3. मानसिक तनाव और स्मरण शक्ति में फायदा

मानसिक तनाव और स्मरण शक्ति में फायदा

रात को सोते समय रोजाना एक चुटकी दालचीनी पानी के साथ खाएं। दालचीनी को सूंघने से भी बहुत फायदा होगा। इस से मानसिक तनाव और स्मरण शक्ति में फायदा मिलेगा।

4. जोड़ों के दर्द में राहत

जोड़ों के दर्द में राहत

गठिया रोग एक ऐसी समस्या है जो लंबे समय तक आपको परेशानी देती है। इसके कारण जोड़ों में दर्द और सूजन की समस्या हो जाती है। दालचीनी इस दर्द को कम करने में मदद करती है इसके लिए एक कप पानी में दो चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी मिलाएं और जब भी जोड़ों में दर्द हो इसे जरूर पिए।

5. पाचन शक्ति में सुधार

पाचन शक्ति में सुधार

दालचीनी पाचन क्रिया को बेहतर करती है और हाजमे को सुधारने में प्रभावी है। पेट से जुड़ी किसी भी समस्या में दालचीनी असरदार है अगर आपको दस्त की समस्या है तो एक कटोरी दही में आधी चम्मच दालचीनी मिलाकर खा सकते हैं आपको अच्छा महसूस होगा।

6. मासिक धर्म की समस्या में सुधार

मासिक धर्म की समस्या में सुधार

पिसी हुई दालचीनी रोजाना एक चम्मच की मात्रा में पानी के साथ खाली पेट ले इससे पेट दर्द में राहत मिलती है। आप चाहे तो पेट दर्द होने पर दालचीनी में हींग मिलाकर भी उसका सेवन कर सकते हैं।

3. हार्ट अटैक की समस्या में सुधार

हार्ट अटैक की समस्या में सुधार

दालचीनी के हार्ट अटैक, कोलेस्ट्रॉल की समस्या में फायदेमंद साबित हुए हैं यह कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं जिससे हार्टअटैक का खतरा कम हो जाता है।

8. बुखार में फायदा

बुखार में फायदा

अगर आपको बुखार की समस्या है तो दालचीनी को अपनाए आप इसके लिए दो कप पानी में चाय की पत्तियां एक चौथाई चम्मच दालचीनी और सो डालकर उबालें जब पानी आधा रह जाए तो इसे छान लें इस पानी का दिन में 2 बार सेवन करें बुखार में राहत मिलेगी।

9. चेहरे पर पिंपल में फायदा

चेहरे पर पिंपल में फायदा

ऑइली स्किन वाले चेहरे पर पिंपल की समस्या रहती है दालचीनी से फेस पर कील और मुंहासों की समस्या दूर होती है यह आपके चेहरे से तेल को खत्म करती है। इसके लिए तीन चम्मच शहद में एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर पेस्ट बना ले आधे घंटे बाद चेहरे को पानी से साफ करें आप इस उपाय को हफ्ते में एक बार कर सकते हैं।

10. कैंसर से बचाव

कैंसर से बचाव

दालचीनी में कैंसर विरोधी गुण पाए जाते हैं पानी में दालचीनी चूर्ण को शहद मिलाकर पिए इसके सेवन से पेट और हड्डियों के कैंसर में राहत मिलेगी।

Dalchini (दालचीनी) के नुकसान

दालचीनी के गुणों के बारे में तो आप सभी जान ही चुके हैं पर आज हम आपको इससे होने वाली हानियों के बारे में भी बताएंगे अगर आप इसका सिमित मात्रा में इस्तेमाल करते हैं तो यह फायदेमंद है परंतु अगर आप इसकी मात्रा जरूरत से अधिक लेते हैं तो यह आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है।

  • दालचीनी का सेवन बहुत अधिक नहीं करना चाहिए यह खून को पतला करता है जिन्हें दिल की बीमारी है वह लोग इसके अधिक सेवन से बचें।
  • लंबे समय तक दालचीनी का सेवन ना करें यह लीवर की समस्या पैदा करता है।
  • कुछ लोगों को दालचीनी से एलर्जी होती है अगर आपको ऐसी कोई समस्या है तो इसके सेवन से बचें।
  • गर्भावस्था में दालचीनी का सेवन ना करें इससे गर्भपात की समस्या हो सकती है।
  • दालचीनी का प्रयोग बाहरी त्वचा पर ना करें क्योंकि इसके प्रयोग से आपको जलन या एलर्जी की समस्या हो सकती है।
  • मसाले के रूप में भी इसका अधिक प्रयोग ना करें क्योंकि आपको सांस की समस्या हो सकती है अगर आपको पहले से सांस की समस्या है तो इस से परहेज करें।
  • दालचीनी के प्रयोग से किडनी पर बुरा असर होता है।

Leave a Comment